राजस्थान इतिहास के प्रमुख स्रोत

सिक्के –

  • भारत मे सर्वप्रथम सिक्को का अध्ययन डी. डी. कौशाम्बी ने किया था।
  • प्राचीन भारत मे प्रारम्भिक सिक्के आहत थे जिन्हें पंचमार्क सिक्के कहा जाता था।
  • अकबर ने मेवाड़ में एलची नामक सिक्का चलाया जिन्हें पर धार्मिक कर तमगा अंकित होता था।
  • भारत मे सर्वप्रथम सोने के सिक्को को प्रारंभ करने का श्रेय कुषाण वंश के शासक विम्बकदफिसस को दिया जाता है।
  • सबसे अधिक सोने के सिक्को का प्रचलन गुप्तकाल में हुआ ।
  • सवाई जयसिंह ने 1728 ई.में सर्वप्रथम जयपुर में एक टकसाल स्थापित की।
  • जैसलमेर में प्रचलित तांबे का सिक्का डोडिया कहलाता था ।
  • जयपुर रियासत में माधोसिंह द्वारा चलाया गया सिक्को को हाली कहा जाता था।

क्र. सं.स्थानसिक्के
1मेवाड़ढोलकिया,भिलाड़ी,त्रिशूलिया,स्वरूपशाही,ढिंगला
2कोटामदन शाही ,गुमानशाही
3जयपुरझाड़शाही मौहम्मद शाही
4जैसलमेरअखैशाही ,डोडिया
5बूंदीगधिया ,विजयशाही ,भीमशाही ,रामशाही ,
6अलवरअखैशाही
7डूंगरपुरउदयशाही
8बाँसवाड़ालक्ष्मण शाही
9बीकानेरगजशाही ,आलमशाही
10बाँसवाड़ा,प्रतापगढ़सालिमशाही
11धौलपुरतमंचाशाही

Leave a comment